18+ के लोगों के Vaccination को लेकर CM शिवराज ने बुलाई High Level मीटिंग

18+ के लोगों के Vaccination को लेकर CM शिवराज ने बुलाई High Level मीटिंग


चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग बोले- मैन पावर, रिसोर्स तैयार हैं
डोज मिलते ही शुरू करेंगे वैक्सीनेशन
सरकार के कैंपेन पहले आओ और पहले पाओ की तर्ज पर होगा वैक्सीनेशन

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान Shivraj Singh Chouhan ने आज शाम हाई लेवल की मीटिंग बुलाई है। इस मीटिंग में 18 से 45 साल तक के लोगों को कोरोना वैक्सीन कब से लगेगी इस पर चर्चा की जाएगी। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग के अनुसार मीटिंग में प्रदेश में Vaccination पार्ट-3 का रोडमैप पर चर्चा की जाएगी। सारंग ने बताया हमारे पास मैन पावर, रिसोर्स तैयार हैं।

वैक्सीन के डोज मिलते ही वैक्सीनेशन Vaccination शुरू करेंगे। गौरतलब है कि वैक्सीन के डोज उपलब्ध नहीं होने के कारण मध्यप्रदेश सरकार ने प्रदेश में 1 मई से वैक्सीनेशन टाल दिया था, जबकि वैक्सीनेशन पार्ट-3 के पहले दिन टीका लगवाने के लिए प्रदेश में 77 हजार लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। वैक्सीन की उपलब्धता न होने से वैक्सीनेशन ड्राइव नहीं शुरू हुआ है।

सारंग के अनुसार सरकार ने कोविशील्ड Covid Shield के 45 लाख और कोवैक्सिन के 10 लाख डोज के ऑर्डर दिए हैं, लेकिन अभी डिलीवरी नहीं हुई है। हालांकि शुक्रवार रात हैदराबाद से प्रदेश में डेढ़ लाख कोवैक्सिन के डोज पहुंची हैं। ऐसे में उम्मीद है कि सरकार वैक्सीनेशन शुरू कर सकती है।

सरकार के कैंपेन पहले आओ और पहले पाओ की तर्ज पर होगा वैक्सीनेशन
मध्यप्रदेश सरकार ने कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु पर वैक्सीन लगवाने के लिये ‘पहले आओ और पहले पाओ’का कैंपेन चलाया था। 28 अप्रैल से शुरू हुए इस कैंपेन में एक मई के लिए पूर्व प्रदेश में 77 हजार स्लॉट बुक थे। लेकिन वैक्सीन की उपलब्धता नहीं होने से ये स्लॉट अब वैलिड नहीं हैं।

वैक्सीनेशन के लिए जिन लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है, वह फिर से रजिस्ट्रेशन नहीं कर सकते हैं। वैक्सीन की उपलब्धता के बाद उन्हें फिर से स्लॉट मिल जाएगा। ये लोग सिर्फ उपलब्ध सेंटर चुन सकते हैं। डेट और टाइम सलेक्टर कर पहले आओ, पहले पाओ की तर्ज पर टीका लगवा सकते हैं।

आपको बता दे कि गुरुवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने वैक्सीन की उपलब्धता नहीं होने से वैक्सीनेशन नहीं शुरू होने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि कंपनी की तरफ से वैक्सीन नहीं मिली है। हालांकि सरकार को उम्मीद है कि मध्य प्रदेश को 3 मई तक ढाई लाख वैक्सीन हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *