86 साल की बुजुर्ग के फेफड़ों में 60% संक्रमण,डॉ बोले- एक दो दिन की मेहमान

86 साल की बुजुर्ग के फेफड़ों में 60% संक्रमण,डॉ बोले- एक दो दिन की मेहमान

वृद्धा बोलीं- अगले साल मेरे जन्मदिन पर जरूर आना

अगर हमारी इच्छाशक्ति, हमारा भगवान में विश्वास प्रबल है, तो दुनिया की कोई भी शक्ति डगमगा नहीं सकती। ये कहना है इंदौर की 86 साल की बुजुर्ग महिला उमा शर्मा का.. इतना ही नहीं जब डॉक्टर ने उमा की रिपोर्ट देखकर कहा कि इनके फेफड़ों में 60% संक्रमण फेल चुका है और ये एक से दो दिन की मेहमान है,तभी वृद्ध महिला उमा ने डॉक्टर से कहा कि डॉक्टर साहब, अगले साल मेरे जन्मदिन पर जरूर आना

15 दिन पहले इंदौर के अस्पताल में भर्ती हुई 86 साल की बुजुर्ग महिला उमा ने अपने जज्बे से डॉक्टरों से झूठा साबित कर दिया। वह कोरोना को मात देकर फिर से सामान्य जिंदगी में लौट आई हैं। आपको बता दे कि डॉक्टरों ने उनकी कोरोना रिपोर्ट और सीटी स्कैन देखकर कह दिया था कि अब इनके पास 1-2 दिन का ही समय बचा है।

आईसीयू में कोरोना के गंभीर मरीजों के साथ रहते हुए भी वे हमेशा यही कहती रहीं कि मुझे कोरोना नहीं है। मुझे एक बार घर ले चलो। बिस्तर पर लेटे लेटे वह भजन कीर्तन करते हुए बाकी मरीजों का साहस बढ़ाती रहीं। आखिर उनकी इच्छाशक्ति का परिणाम रहा कि वे ठीक हो गईं। जब हनुमान जन्मोत्सव पर उनका जन्मदिन आया, तो बोलीं – डॉक्टर साहब मेरे अगले जन्मदिन पर जरूर आना। जब स्टाफ को पता चला कि उनका जन्मदिन है, तो वहां पर भी सेलिब्रेट किया गया।

आखिरकार, 14-15 दिन के संघर्ष के बाद उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई और वे सकुशल घर लौट आईं। उमा का कहना है कि अगर जीने की आस, योग संयम और सकारात्मक ऊर्जा आपके अदंर है तो आप इस महामारी से लड़ सकते हैं। आपको दुनिया की कोई भी शक्ति डगमगा नहीं सकती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: