fbpx

Increase efforts for the poor fishermen | निर्धन तबके के मछुआरों के कल्याण के लिए प्रयास बढ़ाएं : CM

Increase efforts for the poor fishermen | निर्धन तबके के मछुआरों के कल्याण के लिए प्रयास बढ़ाएं : CM

Increase efforts for the poor fishermen

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मत्स्य उत्पादन के क्षेत्र में मध्यप्रदेश की विशेष पहचान बन सकती है। मछुआ कल्याण तथा मत्स्य कल्याण विभाग गरीब तबके के मछुआरों के कल्याण के लिए योजनाओं को समय-सीमा में गुणवत्तापूर्ण कार्यों के साथ पूरा करे।

मुख्यमंत्री चौहान ने आज मंत्रालय में विभागीय समीक्षा में निर्देश दिए कि मध्यप्रदेश की नदियों में विद्यमान मत्स्य संपदा के मछुआरों के हित में उपयोग, झींगा उत्पादन की संभावनाओं और उन्नत प्रजातियों के माध्यम से मत्स्य पालन गतिविधियों को बढ़ावा देने का कार्य किया जाए। भारत सरकार द्वारा निजी क्षेत्र में मत्स्य बीज उत्पादन के लिए प्रोत्साहन दिया जाता है।

इन योजनाओं का प्रदेश पूरा लाभ उठाए, इस दिशा में प्रयास बढ़ाए जाएं। शीघ्र ही प्रदेश स्तरीय मछुआ सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। बैठक में मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विभाग और जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव मछुआ कल्याण कल्पना श्रीवास्तव, प्रमुख स‍चिव जनसंपर्क राघवेन्द्र कुमार सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में जलाशयों में उपलब्ध मत्स्य संपदा के व्यवसायिक उपयोग पर पहला अधिकार गरीब मछुआरों का है। कहीं-कहीं प्रभावशाली व्यक्ति जलाशयों पर कब्जा करने का प्रयास करते हैं। इसे पूरी तरह नियंत्रित करते हुए मछुआरों के हित में योजनाओं का संचालन हमारी प्राथमिकता है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जलाशयों को चिन्हित कर श्रंखला निर्मित करने का कार्य किया जाए। मछुआ नीति में आवश्यक संशोधन कर नवीन रणनीति के अनुरूप मत्स्य पालकों के कल्याण का कार्य हो। मछली पालन सीधे-सीधे गरीबों के रोजगार से जुड़ा कार्य है। एक रोडमैप बनाकर कार्यों को अंजाम दिया जाए। मत्स्य क्रेडिट कार्ड वितरण कर मध्यप्रदेश देश में विशेष स्थान बना सकता है। मत्स्य पालकों के एफपीओ गठित कर कार्यों को गति दी जाए।

मुख्यमंत्री चौहान ने दी बधाई

मुख्यमंत्री चौहान ने भारत सरकार की योजना में बालाघाट जिले को अंतर्देशीय जल क्षेत्र में मत्स्य पालन के अंतर्गत प्रथम पुरस्कार के लिए चुने जाने पर बधाई दी गई। जिले को विश्व मात्स्यिकी दिवस 21 नवम्बर 2021 पर भुवनेश्वर उड़ीसा में यह पुरस्कार दिया गया। इसी तरह भारत सरकार की मत्स्य बीज उत्पादन योजना में धार जिले के कैलाश रामचन्द्र वर्मा भी प्रथम पुरस्कार के लिए चयनित हुए थे। गत 21 नवम्बर 2020 को नई दिल्ली में वर्मा पुरस्कृत किए गए। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि उपलब्धियां अर्जित करने का यह कार्य जारी रहना चाहिए।

मध्यप्रदेश का मत्स्य पालन परिदृश्य

बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में मत्स्य उत्पादन वर्ष 2016-17 में 1.38 लाख मीट्रिक टन में था जो बढ़कर वर्ष 2021-22 के नौ माह में 1.97 लाख मीट्रिक टन हो गया है। बीते वर्ष यह ढाई लाख मीट्रिक टन तक पहुंचा था।

इस वर्ष भी इसी उपलब्धि की आशा है। प्रदेश में पात्र हितग्राहियों को किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध करवाने, अधिकारियों/कर्मचारियों को प्रदेश के बाहर मत्स्य पालन गतिविधियों के अध्ययन के लिए भेजने, अधिक से अधिक मछुआरों को उन्नत तकनीक का मत्स्य पालन प्रशिक्षण उपलब्ध करवाने, मनरेगा योजना में उपयुक्त तालाबों का चयन कर तकनीकी सहयोग प्रदान करने, जल उपलब्धता के आधार पर मत्स्य बीज संवर्धन और मत्स्य पालन गतिविधियां बढ़ाने, आइस प्लांट की स्थापना, मत्स्य आहार संयंत्र की स्थापना, तालाबों में सघन मत्स्य पालन अंतर्गत नई तकनीक के उपयोग और मत्स्य पालन गतिविधियों के प्रदर्शन के कार्य किए जा रहे हैं। प्रदेश में 483.46 हेक्टेयर क्षेत्र में नवीन तालाब निर्माण किए गए हैं।

Increase efforts for the poor fishermen

नवाचारों पर अमल

मत्स्य बीज उत्पादन के लिए चार हेचरी स्थापित की गई है। भीमगढ़ में झींगा उत्पादन में वृद्धि हो रही है। प्रदेश में 36 फिश कियोस्क की स्थापना की जा चुकी है। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना में सीहोर‍ जिले में बॉयोफ्लॉक और छिंदवाड़ा जिले में लार्ज फिश फीड मिल की गतिविधियां प्रारंभ हुई हैं। गांधी सागर जलाशय में फ्लोटिंग प्लेटफार्म पर मत्स्य तौल का कार्य एक नवाचार के रूप में किया गया है। यहां बायो टॉयलेट्स भी बनाए गए हैं। इंदिरा सागर जलाशय में जलदीप योजना में मछुओं को कार्य स्थल पर ही शासकीय योजनाओं का लाभ दिलवाने की पहल की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

IBPS Recruitment Exam Calendar 2022-23 released: Check dates here Madhya Pradesh Pre-Board Exam 2022 time table released CBSE Term-2 Exam’s sample question paper released 16 से 22 जनवरी का साप्ताहिक राशिफल तुला राशि वालों की इनकम के सोर्स CTET 2021 Revised Scheduled Released Admit card