विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर Mahakaleshwar Temple श्रद्धालुओं pilgrims के लिये 28 जून को खोल दिया जाएगा। मंदिर समिति ने निर्णय लिया है कि मंदिर में उन ही श्रद्धालुओं को प्रवेश मिलेगा जिनके पास 48 घंटे पहले कोरोना कीRT-PCR निगेटिव रिपोर्ट होगी। समिति ने कहा है कि जिन श्रद्धालुओं के पास वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट होगा उन्हें भी प्रवेश दिया जाएगा।

धार्मिक नगरी उज्जैन में कोरोना के संकट काल के बाद लॉकडाउन हटाने पर अब प्रशासन शहर के प्रसिद्ध मंदिर को भी खोलने जा रहा है। महाकाल के साथ प्रशासन आम श्रद्धालुओं के लिये हरसिद्धि, काल भैरव और मंगलनाथ मंदिर को भी खोल देगा। लेकिन मंदिर में एक बार में सिर्फ 4 श्रद्धालुओं को ही प्रवेश दिया जाएगा।

Photo credit Shree Mahakaleshwar Temple official facebook page

आपको बता दे कि शुक्रवार को हुई आपदा प्रबंधन की बैठक में ये फैसला लिया गया। बैठक में बताया गया कि शहर अब पूरी क्षमता के साथ सुबह 6 बजे से शाम 7 बजे खोला जाएगा। बृहस्पति भवन में हुई बैठक में उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव, विधायक पारस जैन, सांसद अनिल फिरोजिया, कलेक्टर आशीष सिंह, एसपी सत्येंद्र शुक्ल समेत अन्य अफसर मौजूद थे। बैठक में उज्जैन शहर को अनलॉक करने को लेकर रजामंदी हुई। वहीं 15 जून से खुलने वाले महाकाल मंदिर समेत काल भैरव, हरसिद्धि और मंगलनाथ मंदिर को चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा, ताकि एक मंदिर खोलते से ही श्रद्धालुओं की भीड़ नहीं पहुंचे।

बैठक में निर्णय लिया गया, महाकाल मंदिर समेत तीन अन्य मंदिर को छोड़कर बाकी सभी मंदिर शनिवार से खुल जाएंगे। कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि महाकाल मंदिर, हरसिद्धि, काल भैरव और मंगलनाथ मंदिर में न सिर्फ देशभर से बल्कि बड़ी संख्या में विदेश से भी श्रद्धालु आते हैं। ऐसे में 28 जून से महाकाल मंदिर में ऐसे श्रद्धालुओं को ही प्रवेश मिलेगा, जो वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके हों या फिर 48 घंटे पहले की RT-PCR की निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट साथ लाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *