Connect with us

MP NEWS

महाशिवरात्रि पर्व पर CM चौहान ने सपत्निक भगवान महाकालेश्वर के दर्शन किये

Published

on

Mahashivratri 2022

Mahashivratri 2022

Advertisement

उज्जैन. महाशिवरात्रि पर्व पर मंगलवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन के महाकालेश्वर मन्दिर पहुंचकर भगवान महाकालेश्वर के दर्शन किये और पूजन-अर्चन किया। इस दौरान मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान ने भी मुख्यमंत्री के साथ भगवान महाकालेश्वर के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। पूजन-अर्चन महाकालेश्वर मन्दिर के पुजारी पं.प्रदीप गुरू ने सम्पन्न कराया। मुख्यमंत्री चौहान ने भगवान महाकालेश्वर से प्रदेश की जनता की खुशहाली और प्रदेश के निरन्तर विकास की कामना की।

महाकाल महाराज मन्दिर परिसर विस्तार योजना के द्वितीय चरण की जानकारी ली

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को त्रिवेणी संग्रहालय के ऑडिटोरियम में श्री महाकाल महाराज मन्दिर परिसर विस्तार योजना के द्वितीय चरण के विकास की जानकारी प्राप्त की। कलेक्टर आशीष सिंह ने पॉवर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से महाकाल महाराज मन्दिर परिसर विस्तार योजना के द्वितीय चरण के बारे में मुख्यमंत्री को बताया कि महाराजवाड़ा परिसर को हैरिटेज धर्मशाला के रूप में विकसित किया जायेगा। महाराजवाड़ा और मन्दिर के बीच के हिस्से को भी मन्दिर परिसर में शामिल किया जायेगा। पहले यहां विद्यालय संचालित किया जाता था। इसे अन्यत्र शिफ्ट कर दिया गया है। जून 2023 तक इसका पूर्ण होना प्रस्तावित है।

रूद्र सागर जीर्णोद्धार के अन्तर्गत उन नालों को चिन्हांकित किया गया, जहां से इसमें सीवर लाइन का पानी मिल रहा था। सभी नालों को दूसरी जगह से डायवर्ट करने का कार्य किया जा रहा है। इसमें 90 प्रतिशत कार्य हो चुका है। जब रूद्र सागर पूर्ण रूप से सूख जायेगा, तब शिप्रा नदी से इसमें जल लाने की व्यवस्था की जायेगी। इसके आसपास लगभग 1500 वृक्ष भी लगाये जायेंगे।

Advertisement

रामघाट के सौन्दर्यीकरण के अन्तर्गत रामघाट के सभी प्रमुख मन्दिरों और छत्रियों पर आकर्षक लाईटिंग की जायेगी। पुराने पत्थर का रंग-रोगन किया जायेगा और सभी मन्दिरों और छत्रियों को एकरूपता प्रदान की जायेगी।

महाकाल मन्दिर परिसर विस्तारीकरण के दौरान जो शासकीय विद्यालय थे, उन्हें अन्यत्र शिफ्ट कर दिया गया है। रूद्र सागर के पश्चिमी मार्ग का भी विकास किया जा रहा है। सीवर लाइन नई डाली जा रही है।

Advertisement

मेघदूत वन (मन्नत गार्डन भूमि) के विकास के अन्तर्गत हरिफाटक ब्रिज के ऊपर तरफ जाने वाले मार्ग के पास में भूमि पर भूमाफियाओं का कब्जा था। इस भूमि को माफिया अभियान के अन्तर्गत मुक्त करवाया गया है। यहां खुली पार्किंग बनाई जायेगी।

आपातकालीन प्रवेश, निर्गम द्वार और शिखर दर्शन परियोजना के बारे में कलेक्टर ने बताया कि मन्दिर परिसर के बाहर कम समय में काफी लोगों को इस परियोजना के तहत निकाला जा सकेगा। महाकाल मन्दिर नवीन प्रतीक्षालय के बारे में जानकारी दी गई कि यह मन्दिर के प्रांगण में स्थित होगा। इसका क्षेत्रफल बढ़ाया गया है। महाकाल मन्दिर कॉरिडोर में जगह-जगह ऑडियो गाईड लगाई जायेगी, जहां शिवपुराण से सम्बन्धित कथाओं को सुनाया जायेगा। महाकाल पैदल पुल का निर्माण चारधाम टंकी के पास किया जायेगा। रूद्र सागर में म्युजिकल फाउंटेन लगाया जायेगा।

Advertisement

Advertisement
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.