MP में 7 मई तक बढ़ा जनता कर्फ्यू,केंद्र से मिलेंगे क्रायोजेनिक टैंकर

MP में 7 मई तक बढ़ा जनता कर्फ्यू,केंद्र से मिलेंगे क्रायोजेनिक टैंकर

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने के लिये शिवराज सिंह चौहान ने आज प्रदेश के 10 संभाग के संभागायुक्त,कलेक्टर एवं क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों की बैठक ली। बैठक में सीएम ने 7 मई तक जनता कर्फ्यू का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिये है। शिवराज सरकार ने कोरोना समीक्षा को लेकर एक नया फार्मूला तय किया है, अब सभी जिलों की कोरोना समीक्षा एक साथ नहीं होगी। मध्य प्रदेश के 52 जिलों को तीन ग्रुप ए, बी, सी में बांटा गया है। ग्रुप ए में 18, ग्रुप बी में 16 और ग्रुप सी में 18 जिलों को रखा गया है। इन ग्रुपों की अलग-अलग समीक्षा होगी। अस्पतालों में आक्सीजन का आडिट किया जाएगा, अस्पताल को आक्सीजन कमी की सूचना 6 घंटे पहले देनी होगी। सीएम ने विधायकों और सांसदों को भी जन सहयोग से कोविड केयर सेंटर बनाने की अपील की। मध्य प्रदेश के हर संभाग में एक बड़ा आक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा।

ग्रुप A में इंदौर उज्जैन रतलाम टीकमगढ़ धार अनूपपुर झाबुआ नीमच देवास निवाड़ी मंदसौर खरगोन शाजापुर आगर मालवा अलीराजपुर बड़वानी खंडवा बुरहानपुर जिले शामिल होंगे। वहीं ग्रुप B में भोपाल ग्वालियर बैतूल दतिया विदिशा सीहोर मुरैना शिवपुरी होशंगाबाद अशो नगर रायसेन राजगढ़ गुना हरदा श्योपुर भिंड जिले और ग्रुप C में जबलपुर रीवा नरसिंहपुर सिंगरौली सीधी पन्ना सतना सागर शहडोल कटनी छतरपुर सिवनी मंडला बालाघाट उमरिया डिंडोरी छिंदवाड़ा और दमोह जिले शामिल होंगे। शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि आज उनकी बात गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर हुई है। शाह ने आश्वासन दिया कि प्रदेश को क्रायोजेनिक टैंकर दिए जाएंगे। बता दें कि भारत को सिंगापुर क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर की सप्लाई कर रहा है।