Connect with us

Top News

प्रदेश में गरीबों के कल्याण के लिये नहीं छोड़ेंगे कोई कोर-कसर

Published

on

pradesh mein gareebon ke kalyaan ke liye nahin chhodenge koee kor-kasar

मुख्यमंत्री चौहान ने पी.एम. आवास योजना में “सहरिया स्पेशल प्रोजेक्ट” का कराहल में किया शुभारंभ

MP mein gareebon ke kalyaan ke liye nahin chhodenge koi kor-kasar

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में गरीबों के सम्मान और कल्याण के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी जायेगी। गरीबों के हित में सरकार लगातार कार्य कर रही है। इसी क्रम में आज श्योपुर जिले के जनजातीय विकासखण्ड कराहल में प्रधानमंत्री आवास योजना में “सहरिया स्पेशल प्रोजेक्ट” का शुभारंभ किया गया है।

Advertisement

इस प्रोजेक्ट में सहरिया समाज के 19 हज़ार 166 हितग्राहियों को 260 करोड़ रूपये के आवास स्वीकृत हुए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान कराहल में सहरिया विशेष प्रोजेक्ट के शुभारंभ और 150 करोड़ रूपये के विकास कार्यों के लोकार्पण एवं भूमि-पूजन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। अध्यक्षता केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने की। मुख्यमंत्री श्री चौहान और केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर ने गिर गाय नस्ल सुधार परियोजना का शुभारंभ भी किया।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में “सहरिया स्पेशल प्रोजेक्ट” अद्भुत योजना है। आज सहरिया समाज के गरीब परिवारों के लिये आनन्द, प्रसन्नता और खुशी का दिन है। उन्होंने कहा कि 19 हजार 166 आवास बन जाने से सहरिया परिवारों की ज़िंदगी बदल जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीब, किसान और माताओं-बहनों की सरकार है, जब तक इन सभी का उत्थान नहीं हो जाता, तब तक मैं शांत नहीं बैठूंगा।

Advertisement

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने संकल्प लिया है कि हर गरीब को पक्का मकान दिया जाये। इसके लिये बजट में प्रावधान भी किया गया है। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में बनने वाले आवासों के लिये सीमेंट एवं अन्य सामग्री की व्यवस्था एक साथ की जाये, जिससे हितग्राही को कम दरों पर सामग्री मिल सके और उन्हें भटकना भी न पड़े। इस संबंध में उन्होंने जिला कलेक्टर को व्यवस्था करने के निर्देश भी दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो स्व-सहायता समूह ईंट निर्माण कर रहे हैं, उनसे ईंट खरीदी जाये, जिससे समूहों को भी लाभ मिले। इस कार्य में गड़बड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आजीविका मिशन के स्व-सहायता समूह की महिलाओं को बधाई दी। उन्होंने कहा कि समूह की महिलाएँ साबुन, डिटर्जेन्ट, अमरूद का उत्पादन, जड़ी-बूटियाँ और मसालों का उत्पादन कर अच्छा लाभ कमा रही हैं। उन्होंने जरूरतमंद माता-बहनों को भी समूहों से जोड़कर उनके आर्थिक और सामाजिक उत्थान की बात कही। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि फुटपाथ पर दुकान चलाने वालों को पथ विक्रेता योजना में आर्थिक मदद की जा रही है।

Advertisement

साथ ही ऐसे जनजातीय युवा, जो शारीरिक रूप से सुदृढ़ और फुर्तीले हैं, उनके लिये पुलिस कांस्‍टेबल भर्ती में विशेष अंक का प्रावधान करने का विचार किया जा रहा है। साथ ही हर जिले में रोजगार मेलों का आयोजन कर अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार से जोड़ने की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राशन आपके ग्राम योजना में लगने वाले वाहनों की व्यवस्था कर युवाओं को रोजगार से जोड़ा जा रहा है। योजना में गाँव-गाँव जाकर राशन वितरण की जवाबदारी भी जनजातीय युवाओं को सौंपी गयी है। उन्होंने कहा कि राशन प्राप्त करने से वंचित परिवारों को पात्रता सूची में जोड़ने की कार्यवाही की जाएगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री खाद्यान्न योजना में 5 किलो और मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना में 5 किलो राशन एक रूपये प्रति किलो में दिया जा रहा है। राज्य सरकार किसी भी गरीब को भूखा सोने नहीं देगी।

Advertisement

केंद्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज श्योपुर जिले को 400 करोड़ रुपये की सौंगातें दी हैं। उन्होंने कहा कि आज श्योपुर जिले के लिए सौभाग्य का दिन है, यहाँ जनजातीय भाइयों को 19 हजार 166 आवास निर्माण की सौगात दी गई है। इस विशेष प्रोजेक्ट पर 260 करोड़ रूपए व्यय किये जायेंगे। यह राशि आवास हितग्राहियों के खाते में सीधी भेजी जायेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में संपूर्ण मध्यप्रदेश में तीव्र गति से विकास कार्य चल रहा है। इसमें बिजली, सड़क, तालाब, पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ अधोसंरचनाओं से चहुँमुखी विकास किया जा रहा है।

केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि एक कालखण्ड ऐसा भी था, जब व्यक्ति आवास को प्राप्त करने का सपना देखता था। अब ऐसी स्थिति नहीं है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने संकल्प लिया है कि कोई भी गरीब बगैर छत के नहीं रहेगा। देश में अभी तक 32 करोड़ आवास निर्माण कर ग्रामीणों को उपलब्ध कराये गये हैं। मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा आवास बने हैं। उन्होंने कहा कि श्योपुर जिले में ही सहरिया भील-भिलाला, कोरकू जनजाति परिवारों को 22 हजार से अधिक आवास स्वीकृत कर 21 हजार आवास बनाकर गृह प्रवेश करा दिया गया है। इसके बाद भी जनजातीय परिवारों की एक बड़ी संख्या आवासों से वंचित थी, जिन्हें विशेष प्रोजेक्ट के तहत आवास स्वीकृत किये गये हैं।

Advertisement

हितलाभ वितरण

मुख्यमंत्री श्री चौहान और केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर ने विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को हितलाभ वितरित किये। प्रधानमंत्री आवास योजना के स्वीकृति प्रमाण-पत्र, राशन आपके ग्राम योजना में हितग्राहियों को वाहन की चाबी, लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण-पत्र, किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड, स्व-सहायता समूहों को बैंक लिंकेज ऋण के चेक, पोषण आहार राशि, मुख्यमंत्री उपचार योजना में सहायता राशि, नि:शक्त महिला को ट्रायसिकल और कृषक कल्याण पुरस्कार के प्रमाण-पत्र वितरित किये।

मुख्यमंत्री की घोषणाएँ

श्योपुर जिले में स्वीकृत मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिये बजट में प्रावधान किया गया है।

Advertisement

कराहल और ढोढर में कॉलेज निर्माण के लिए राशि उपलब्ध कराई जायेगी।

मूझंरी डैम निर्माण की स्वीकृति देकर बजट प्रावधान किया गया है।

Advertisement

विजयपुर क्षेत्र के चेटीखेड़ा डैम के निर्माण की स्वीकृति एक माह के अन्दर जारी कर दी जायेगी।

गसवानी के 14 वन ग्रामों को राजस्व ग्राम बनाने की कार्यवाही की जायेगी।

Advertisement

मुख्यमंत्री कन्या विवाह और तीर्थ-दर्शन योजना पुनः शुरू की जायेगी।

Advertisement

Advertisement
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.