Connect with us

Top News

Russia Ukraine Top 5 News

Published

on

Russia Ukraine News

Advertisement

Russia Ukraine Top 5 News

1. रूस के लगातार हमलों और राजधानी कीव (Kiev) के घिर जाने के बाद भी राष्ट्रपति व्लादिमीर ज़ेलेंस्की (Vladimir Zelensky) अपने देश यूक्रेन में ही डटे हुए हैं. इसकी पुष्टि शुक्रवार रात एक वीडियो से हुई है. खास बात यह है कि यह वीडियो खुद ज़ेलेंस्की ने जारी किया है. राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने यूक्रेन की राजधानी कीव से एक वीडियो संदेश जारी कहा है, “हम यहां हैं. हम कीव में हैं. हम यूक्रेन की रक्षा कर रहे हैं.” यानी ज़ेलेंस्की ने वीडियो के जरिए यूक्रेनी नेतृत्व और संसद के कीव में बने रहने की घोषणा की है.

2. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में शुक्रवार को यूक्रेन पर रूसी हमले को रोकने और सेना को वापस बुलाने के प्रस्ताव पर मतदान हुआ. इस दौरान रूस ने प्रस्ताव पर वीटो किया. सुरक्षा परिषद के पांच स्थाई सदस्यों में रूस भी शामिल है. उधर, भारत, चीन और यूएई ने हमले की निंदा करते मतदान में हिस्सा नहीं लिया.संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में यूक्रेन पर हमले के खिलाफ पेश किए गए प्रस्ताव के समर्थन में 15 में से 11 सदस्य देशों ने वोट किया. वहीं, रूस ने इस प्रस्ताव के खिलाफ वीटो का इस्तेमाल किया. उधर, भारत, चीन और यूएई ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया.

Advertisement

3. यूक्रेन पर रूस के हमले लगातार जारी हैं. इसी बीच यूक्रेन ने दावा किया कि रूस के युद्धपोतों ने शुक्रवार को काला सागर (Black Sea) में ओडेसा पोर्ट (Odessa port) के पास दो मालवाहक जहाजों को निशाना बनाया. रूस ने यूक्रेन पर गुरुवार को हवाई हमला किया था. इसमें सैकड़ों लोगों की मौत हो गई. रूस की ओर से अभी तक कुल तीन गैर-सैन्य जहाजों को निशाना बनाया गया है. इससे पहले गुरुवार को तुर्की मालवाहक जहाज पर बमबारी की गई थी.

4. इधर UNSC की बैठक में UN में भारत की अगुवाई कर रहे टी. एस. तिरुमूर्ति ने कहा कि यूक्रेन में हाल ही में हुए घटनाक्रम से भारत बेहद परेशान है। हम आग्रह करते हैं कि हिंसा और शत्रुता को तत्काल समाप्त के सभी प्रयास किए जाएं। नागरिकों के जीवन की सुरक्षा के लिए अभी तक कोई भी समाधान नहीं निकाला गया है। सभी सदस्य देशों को रचनात्मक तरीके से आगे बढ़ने के लिए सिद्धांतों का सम्मान करने की आवश्यकता है। मतभेदों और विवादों को निपटाने के लिए संवाद ही एकमात्र उत्तर है, हालांकि इस समय ये कठिन लग सकता है। इस बात से खेद है कि कूटनीति का रास्ता छोड़ दिया गया है हमें उस पर लौटना होगा। इन सभी कारणों से, भारत ने इस प्रस्ताव पर परहेज़ करने का विकल्प चुना है:

Advertisement

5. यूक्रेन पर रूस के हमले को लेकर UK सरकार ने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उनके विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव की सभी संपत्तियों को ज़ब्त करने का आदेश दिया है। इधर यूक्रेन में रूस के द्वारा किए गए आक्रमण की असहमति वाले प्रस्ताव पर मतदान के लिए UNSC का आपातकालीन सत्र जारी है। वहीं संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत लिंडा थॉमस ग्रीनफील्ड ने कहा कि हमारे बुनियादी सिद्धांतों पर रूस के द्वारा किया गया हमला ढीठ और बेशर्मी भरा है, यह हमारी अंतरराष्ट्रीय प्रणाली के लिए ख़तरा है।

Advertisement
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.