With building permission Now it will be mandatory to plant tree in MP

With building permission Now it will be mandatory to plant tree in MP
मध्यप्रदेश में अब building permission बिल्डिंग परमिशन  के साथ पेड़ पौधे लगाने की अनिवार्यता की जाएगी। इसके लिये जल्द ही आदेश जारी किया जाएगा। इतना ही नहीं गांव पंचायतों में भी घर बनवाते समय एक पेड़ लगाना होगा। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज पर्यावरण दिवस के अवसर पर प्रदेशव्यापी वृहद पौध रोपण अभियान "अंकुर" का शुभारंभ किया। 
सीएम ने प्रदेश के 52 जिलों में वीसी के माध्यम से संवाद करते हुए कहा कि आज #WorldEnvironmentDay है। भौतिक प्रगति के लिये जिस तरह से प्रकृति के साथ खिलवाड़ हुआ है, यही स्थिति रही तो पृथ्वी का तापमान 2 डिग्री तक बढ़ेगा जो अनेकों आपदाओं को जन्म देगा। हम क्या इतने स्वार्थी हो गए हैं कि आने वाली पीढ़ी के लिये ऐसे धरती छोड़ेंगे।

ये खबर भी पढ़े : Madhya Pradesh reaches out to 72% post COVID-19 patients

यह धरती केवल मनुष्य के लिये नहीं बनाई है। यह सब जीव-जंतुओं के लिये है, अनेकों समस्याएं केवल पर्यावरण के असंतुलन से पैदा हुई हैं। पेड़ कटे-जंगल कटे, जिसका दुष्परिणाम आज सबके सामने है। प्रकृति का दोहन करना है शोषण नहीं है। दोनों में बहुत अंतर है, प्रकृति से इतना ही लेना है कि जितना वो फिर से भरपाई कर ले। बचपन से हमे सिखाया गया है कि हम प्रकृति का सम्मान करें। हमें पर्यावरण संतुलित करना है तो पेड़ लगाने होंगे, नदियों को बचाना होगा। 


मैंने रोज एक पेड़ लगाने का निश्चय किया। पौधा लगाते समय मैं महसूस करता हूँ कि मैं जीवन रोप रहा हूँ। पेड़ स्थाई ऑक्सीजन के प्लांट हैं। एक वृक्ष लाखों जीव जंतुओं को जीवन देता है। पेड़ हमें शांति का अनुभव देते हैं, हमें आने वाली पीढ़ी के लिये पेड़ लगाने होंगे। 

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं आप सबसे आह्वान करता हूँ कि वर्ष में एक पेड़ अवश्य लगाएं और उसका संरक्षण करें। जन्मदिन आदि  शुभ अवसरों पर एक पेड़ लगा सकते हैं। पेड़ लगाकर स्मृति करने से अच्छा और क्या तरीका क्या हो सकता है। अंकुर कार्यक्रम हमने इसी उद्देश्य से शुरू किया है। आपसे अपील है अधिक से अधिक संख्या में अंकुर अभियान से जुड़ें और पौधे लगाएं। प्रतिभागियों का जिले वार चयन कर वृक्ष वीरों और वीरांगनाओं को सम्मानित किया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *